शुरू होने जा रही है दिल्ली में एक सितम्बर से वाहनों को स्क्रैप किये जाने की प्रक्रिया

Breaking News

दिल्ली में कई ऐसे वाहन हैं जो अपनी मियाद पूरी कर चुके हैं| बता दे की डीजल-पेट्रोल से चलने वाले इन वाहनों की संख्या करीब बीस लाख से पच्चीस लाख रूपये के बीच की है| बता दे की दिल्ली में ट्रांसपोर्ट विभाग इन वाहनों को स्क्रैप करने की तैयारी कर रहा है और ऐसे में इस विशेष अभियान को अंजाम देने के लिए उन्होंने 82 टीमें भी तैयार की हैं| इस वक़्त परिवहन निगम बहुत ही ज़्यादा चौकन्ना है और वे मियाद पूरी कर चुके वाहनों पर कड़ी नाराज़ रख रहे हैं| जो भी वाहन ऐसे पाए जाएंगे जो अपनी मियाद पूरी कर चुके हैं उन्हें जब्त किया जाएगा और स्क्रैप किया जाएगा|

जल्द ही होंगी पुरानी गाड़ियों की स्क्रेप्पिंग

इस वक़्त प्रशासन पुरानी गाड़ियों पर पैनी नज़र गड़ाए हुए है, और यदि किसी भी ऐसी गाडी का पता चलता है की सड़क पर यह चल रही गाडी 10 साल से ज़्यादा पुरानी (डीजल) या 15 साल से ज़्यादा पुरानी (पेट्रोल) गाड़ी है तो आपको बता दे की उन गाड़ियों पारसख्तत कारहवाही की जायेगी और गाड़ियां ज़ब्त कर ली जाएंगी| यहां तक की गलियों में, या घर के पास लम्बे समय से रखी गाड़ियों पर भी कारहवाही की जायेगी| इस वक़्त दिल्ली में 20 25 लाख गाड़ियां इस प्रकार की हैं जो अपनी मियाद पूरी कर चुकी हैं|

दिल्ली में की जाएंगी पुरानी गाड़ियां स्क्रैप

आपको बता दे की एक बार जब गाड़ियां स्क्रैप कर दी जाती हैं तो उनका पंजीकरण रद्द कर दिया जाता है और इसके बाद उनको सड़कों पर उतारने की इजाज़त नहीं होती है| आपको बता दे की इन वाहनों को स्क्रैप करने के बाद इनका प्रमाण पत्र भी दिया जाता है| इसके बाद कबाड़ हो गयी इन गाड़ियों के मालिकों को इनके गलत उपयोग होने की भी चिंता नहीं होती है|

पता चला है की फ़िलहाल दिल्ली में स्क्रैप करने के लिए पहुँचने वाले वाहों की संख्या काफी कम है| अभियान के शुरू होते ही प्रदुषण फैलाने वाले वाहनों को जब्त कर स्क्रैप कर दिया जाएगा| इससे दिल्ली में तेज़ी से बढ़ता हुआ प्रदुषण भी कम हो सकेगा| बता दे की इससे कारबार में भी काफी ज़्यादा वृद्धि होगी, और पर्यावरण में भी काफी फर्क पड़ेगा|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *