घर बैठे होगा RTO का सारा काम,  सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने अधिसूचना जारी करि, जानिए कैसे होगा 

Breaking News POLITICAL Technology TRAVEL

घर बैठे होगा RTO का सारा काम,  सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने अधिसूचना जारी करि, जानिए कैसे होगा

जहा पहले हमे अपना लर्निंग लाइसेंस बनवाने, ड्राइविंग लाइसेंस (DL), ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यू , आदि अन्य काम के लिए घंटो घंटो तक क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय की लंबी क़तार में लगना पड़ता था और बार बार क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे उसे सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने काफी आसान बना दिया | दरहसल सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने हालही में 16 सितंबर को इस मामले में अधिसूचना जारी करि है जिसके तहत अब हमे घंटो तक क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय की क़तार में खड़े होने की कोई आवश्यकता नहीं है और ना ही बार बार चक्कर काटना पड़ेगा क्योकि अब घर बैठे होगा आपका आरटीओ से संबंधित सारा काम | आगे हम आपको बताएंगे पूरा माजरा क्या है |

घर बैठे होगा RTO का सारा काम

See the source image
देश भर में हुई नई सेवा चालु , नई सेवाओं का आनंद लेने के लिए आपको ज्यादा भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है, लर्निंग, डीएल, आरसी, घर पर बैठे आधार से बन जाएगा काम | केवल दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश में, यदि लर्निंग लाइसेंस बनवाना चाहते हैं, डीएल रिन्यू कराना चाहते हैं या फिर आप डुप्लिकेट लाइसेंस सहित आरटीओ से संबंधित अन्य काम कराना चाहते है, तो आपको क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं है। काम घर पर हो जाएगा।

सभी दस्तावेजों को आधार पर बनेगा काम

See the source image
आधार प्रमाणीकरण की सहायता से, वाहन पंजीकरण व स्वामित्व के हस्तांतरण से संबंधित 58 नागरिक केंद्रित सेवाओं का अब स्वैच्छिक आधार पर आनलाइन लाभ उठाय जा सकता है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने 16 सितंबर को इस मामले में एक अधिसूचना जारी की। मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि यह कदम सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा जारी किया गया था ताकि  लोगों को बेहतरीन सेवाएं प्रदान की जा सके और अनावश्यक समस्याओं से बचा जा सके।

लोगों को यह लाभ मिलेगा

See the source image

पहले डीएल बनवाने या फिर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन करवाने आदि के लिए आरटीओ में लाइनों में खड़ा रहना पड़ता था। यह न केवल समय की बर्बादी है, बल्कि अतिरिक्त पैसा खर्च भी करता है। अब ऑनलाइन सेवाओं के लिए उन्हें अपने आधार कार्ड को वेरिफाई करने की आवश्यकता होगी। इससे ग्राहक कांटैक्टलेस और फेसलेस तरीके से अपने समय की भी बचत कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.