दिल्ली-एनसीआर की हवा बेहद खराब, जानिए क्या है वजह, एक्सपर्ट्स बोले- मॉर्निंग वॉक से बचें, दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंचा

#DELHI Breaking News CRIME HEALTH INDIA POLITICAL weather

दिल्ली-एनसीआर की हवा बेहद खराब, जानिए क्या है वजह, एक्सपर्ट्स बोले- मॉर्निंग वॉक से बचें, दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंचा

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण बढ़ता जा रहा है। वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 329 (बहुत खराब) श्रेणी में है। दिल्ली के आनंद विहार और अक्षरधाम में सुबह से ही कोहरा छाया रहा। वायु प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो रहा है। शुक्रवार को दिल्ली समेत एनसीआर में भी धुंध की चादर देखी गई। आनंद विहार में आज सुबह एक्यूआई 440 दर्ज किया गया। नोएडा सेक्टर 62 में 367 और गुरुग्राम सेक्टर में 51 में 356 एक्यूआई दर्ज किया गया। इससे पता चलता है कि प्रदूषण का स्तर कितना खराब हो गया है।

जानिए कहां दर्ज हुआ एक्यूआई

See the source image

शुक्रवार सुबह दिल्ली-एनसीआर में सफेद धुंध की चादर देखी गई। दिल्ली के आनंद विहार में एक्यूआई 440, मुंडका में 357 और आरकेपुरम में 345 दर्ज किया गया। एनसीआर की बात करें तो नोएडा सेक्टर 62 में 367 और गुरुग्राम में 356 आज सुबह रिकॉर्ड किया गया है।

दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण के कारण मरीजों की संख्या भी बढ़ने लगी है। बढ़ते प्रदूषण को लेकर डॉक्टरों का कहना है कि प्रदूषण की वजह से सांस लेने में तकलीफ, खांसी, आंख और स्ट्रोक की बीमारियां होने की आशंका बढ़ गई है। जिन लोगों को कोरोना हो चुका है उन पर प्रदूषण का ज्यादा असर पड़ सकता है। प्रदूषण का यह स्तर बच्चों और बुजुर्गों के लिए भी खतरनाक हो सकता है। खासतौर पर अस्थमा के मरीजों को ज्यादा परेशानी हो सकती है।

पंजाब में पराली जलाने की घटनाएं 9% बढ़ीं

See the source image

पंजाब में पराली जलाना वायु प्रदूषण की बिगड़ती गुणवत्ता के मुख्य कारणों में से एक है। दिवाली के अगले दिन हवा चलने और कम पराली जलाने के कारण प्रदूषण का स्तर उतना ऊंचा नहीं पहुंच पाया। लेकिन गुरुवार सुबह प्रदूषण दिवाली के एक दिन बाद से भी ज्यादा दर्ज किया गया। वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने बृहस्पतिवार को कहा कि पंजाब में 2021 की इसी अवधि की तुलना में इस साल 15 सितंबर से 26 अक्टूबर तक पराली जलाने की घटनाओं में नौ प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो चिंताजनक है।

सुबह और शाम की सैर बंद करो

See the source image

दिल्ली और उससे सटे नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम में हवा बेहद प्रदूषित हो गई है। यहां सुबह-शाम धुंध की चादर छाई रहती है। इस बीच दिल्ली एनसीआर के पार्कों में सुबह-शाम बड़ी संख्या में लोग टहलने के लिए निकलते हैं। विशेषज्ञ ों का कहना है कि बदलते मौसम में प्रदूषण और ठंडक से बचने के लिए सुबह और शाम की सैर बंद कर देनी चाहिए, खासकर 65 साल से अधिक उम्र के लोगों को। सुबह 9 बजे से पहले और शाम 5 बजे के बाद घर से बाहर निकलने से बचें। क्योंकि इस दौरान हवा ज्यादा प्रदूषित होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *